Thursday, October 31, 2013

Sania Mirza to enter Bigg Boss house?


In Bigg Boss reality show, Salman Khan isn’t just a host. He gets involved in its creative process and is known to give his input to improve the quality of the show.
 According to reports, Salman has convinced his friend Sania Mirza to participate in Bigg Boss 7. Initially Sania Mirza was approached by the casting team of the reality show for possible participation but they were turned down by Sania Mirza.
 It was only after Salman’s intervention Sania who is married to Pakistani cricketer Shoaib Malik, agreed to participate in the show. The sources have also revealed that Sania Mirza who has made Dubai her residence, will arrive next week in Mumbai to finalize the details of the show.
 It is rumored that Sania Mirza will make entry in Bigg Boss house in first week on November. Now are the rumors genuine or it is just another publicity stunt, it remains to be seen.






source :  http: //entertainment.sandhira.com /sania-mirza-to-enter-bigg-boss-house.html

Monday, October 21, 2013

ठंडा पड़ा ‘बॉस’, घटने लगा बॉक्स ऑफिस कलेक्शन



 ईद के दिन 16 अक्टूबर को रिलीज हुई अक्षय कुमार की फिल्म ‘बॉस’ कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाई। 70 करोड़ की लागत से बनी ये फिल्म अभी तक मुश्किल से 40 करोड़ 75 लाख रुपये की कमाई कर पाई है। फिल्म समीक्षक तरण आदर्श के मुताबिक रिलीज के पहले दिन यानि बुधवार को फिल्म ने करीब 13 करोड़ का कारोबार किया था, गुरुवार को 8 करोड़, शुक्रवार, शनिवार को 6 करोड़ और रविवार को 8 करोड़ रुपये की कमाई हुई।

ईद के दिन फिल्म रिलीज करने का अक्षय को कोई फायदा नहीं मिला जबकि इस हफ्ते कोई बड़े बजट की फिल्म भी नहीं रिलीज नहीं हुई लेकिन फिर भी कमजोर स्टोरी लाइन की वजह से फिल्म को दर्शकों ने नकार दिया। वहीं शुक्रवार को रिलीज हुई छोटे बजट की फिल्म ‘शाहिद’ को काफी तारीफ मिल रही है। फिल्म ने वीकेंड में 2 करोड़ का बिजनेस किया।

बुधवार को फिल्म रिलीज करना बॉलीवुड को काफी महंगा साबित हो रहा है। इससे पहले 2 अक्टूबर यानी बुधवार को रिलीज हुई फिल्म ‘बेशरम’ का भी यही हश्र हुआ था। करीब 60 करोड़ की लागत से बनी रणबीर की फिल्म भी अपनी लागत तक नहीं वसूल पाई। कुल मिलाकर बुधवार का दिन बॉलीवुड के लिए काला बुधवार साबित हो रहा है




 



Source-khabar .ibnlive .in .com

Friday, October 18, 2013

कंगना के कारण छोड़े पारस ने एग्जाम्स



कंगना राणावत की आने वाली फिल्म 'रज्जो' में उनके साथ 18 साल के कलाकार पारस अरोड़ा काम कर रहे हैं। 'रज्जो' पारस की पहली फिल्म है। इससे पहले पारस टीवी शो 'वीर शिवाजी' में काम कर चुके हैं। रज्जो में कंगना के साथ काम करने का मौका मिलने को लेकर पारस इतने उत्साहित थे कि उन्होंने अपनी बारहवीं की परीक्षा तक छोड़ दी।

पारस कहते हैं, '12वीं के बोर्ड एग्जाम्स के वक्त फिल्म के कुछ अहम सीन्स शूट होने थे। मेरे पास कंगना के साथ काम करने का मौका था, तो मैंने फिल्म को चुना और परीक्षा छोड़ दी।'

फिल्म 'रज्जो' 15 नवंबर को रिलीज होगी। कंगना का कहना है कि इस फिल्म में अलग किस्म की कहानी है, जिसे उनके फैंस जरूर पसंद करेंगे।





Source-navbharattimes .indiatimes .com

Wednesday, October 16, 2013

पाक में दिलीप कुमार का घर बनेगा संग्रहालय





 मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार के पेशावर में स्थित पुश्तैनी घर को संरक्षित स्मारक के रूप में विकसित किया जाएगा। खंडहर बने इसी छोटे घर में दिलीप कुमार का जन्म हुआ था। क्रिकेट से राजनीति में आए इमरान खान की पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ पीटीआई पार्टी के नेतृत्व वाली खैबर पख्तूनख्वा सरकार, संस्कृति विभाग के संसदीय सचिव आरिफ यूसुफ ने आज पेशावर में दिलीप कुमार के किस्सा ख्वानी बाजार खुदादाद मुहल्ले में जाकर इस भवन को देखा और पत्रकारों से कहा कि अभिनेता के वंशजों की इस धरोहर को संरक्षित किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि वर्षों तक खाली पड़े रहने के बावजूद भवन की दीवारें सुरक्षित हैं और उनकी थोड़ी बहुत मरम्मत करके उन्हें फिर से सुंदर बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि घर की मरम्मत पर ज्यादा समय नहीं लगेगा और जल्द ही इसे संग्रहालय के रूप में भी विकसित कर दिया जाएगा। यूसुफ ने कहा कि वह सिनेमा जगत की इन महान विभूतियों के जन्मस्थलों को सांस्कृति धरोहर के रूप में विकसित करेंगे। उन्होंने कहा कि वह दिलीप कुमार के पुश्तैनी घर का दौरा कर चुके हैं और अब उनकी योजना उनके परिवार के सदस्यों से मिलने की भी है और जल्द ही वह उनसे मुलाकात करेंगे और यह पता लगाएंगे कि वे किन हालात में रह रहे हैं।
उन्होंने कहा कि बॉलीवुड के इस महानायक के घर की हालत देखकर उन्हें बेहद अफसोस हुआ है और उन्हें इस बात की हैरानी की है कि सिने जगत के इन कालजयी कलाकारों के जन्मस्थलों का संरक्षण अब तक किस वजह से नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि दिलीप कुमार के घर को किस रूप में विकसित किया जाना है। इसके लिए उन्होंने योजना बना ली है।





Source-khabar.ibnlive .in .com


Saturday, October 12, 2013

जानें कैसी है फिल्म 'वॉर छोड़ न यार'



  1. फिल्म- वॉर छोड़ न यार
  2. डायरेक्टर- फराज हैदर
  3. एक्टर- शरमन जोशी, सोहा अली खान, जावेद जाफरी, संजय मिश्रा, दिलीप ताहिल, मनोज पाहवा
  4. ड्यूरेशन- 1 घंटा 59 मिनट
  5. स्टार- 5 में 3


एक कर्नल खान हैं. सस्ती मेंहदी के शिकार. कत्थई दाढ़ी और उसी रंगत के बाल. बेचारे स्पीक टु मी को ऐसे बोलते हैं कि लगता है कि सफीक टमीम बोल रहे हैं. अपनी सरकार यानी पाकिस्तान से परेशान हैं कि खाने को देते हैं दाल गोश्त, मगर उसमें न दाल होती है, न गोश्त. उनका कैप्टन है कुरैशी, जिसे सीमा पार के जवानों से अंताक्षरी खेलने का शौक है. उसके वजीर हैं, जो बस चीन से हथियार और अमेरिका से डॉलर चाहते हैं. एक जनरल है, जो लड़ाई के नाम पर बस वीडियो गेम में धांय धांय करता है.






Source-aajtak .intoday .in


Thursday, October 10, 2013

अक्षय कुमार ने तोड़ा माइकल जैक्‍सन का रिकॉर्ड, बॉस गिनीज बुक में दर्ज



अक्षय कुमार की फिल्‍म 'बॉस' ने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड्स में जगह बना ली है. दरअसल, पॉप स्टार माइकल जैक्सन का पोस्टर 'दिस इज इट' ही अब तक दुनिया के सबसे बड़े पोस्टर के नाम से दर्ज था, लेकिन अब यह रिकॉर्ड अक्षय कुमार के नाम है.
46 वर्षीय अक्षय कुमार के प्रशंसकों 'टीम अक्षय' ने फिल्म 'बॉस' का ऐसा पोस्टर बनाया है, जिसने माइकल के सभी रिकार्ड तोड़ दिए हैं.

इस पोस्‍टर की लंबाई 54.94 मीटर और चौड़ाई 58.87 मीटर है, जिसका अनावरण 3 अक्‍टूबर को यूके के लिटिल ग्रैन्‍सडेन एयरफील्‍ड में किया गया. मैक्रो आर्ट्स ने इस पोस्‍टर को बनाया है. ये मैक्रो आर्ट्स वही कंपनी है जिसने जैक्‍सन का पोस्‍टर भी बनाया था.




अक्षय कुमार ने इस पर खुशी जताते हुए एक बयान जारी कर कहा, 'यह सम्‍मान की बात है. मैं उन सभी का आभारी हूं, जिन्‍होंने इसे मुमकिन कर दिखाया.'

आपको बता दें कि यह यह विश्व का सबसे बड़ा पोस्‍टर बन गया है. इससे पहले पॉप स्टार माइकल जैक्सन का पोस्‍टर ही सबसे बड़ा माना जाता था.






Source-aajtak .intoday .in

आखिर क्या है तंदूर कांड ?




18 साल बाद आज एक बार फिर तंदूर धधक उठा. 18 साल बाद आज एक फैसले ने एक बार फिर से उस तंदूर कांड को जिंदा कर दिया जिस तंदूर से निकली तपिश ने तब पूरे देश को तपा दिया था. पहली बार 18 साल पहले लोगों को पता चला था कि कभी किसी इंसान को तंदूर में भी भुना जा सकता है. जी हां, 18 साल पहले हुए उसी चर्चित तंदूर कांड के मुख्य आरोपी सुशील शर्मा की फांसी की सज़ा को सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को उम्र कैद में बदल दिया।. पर सज़ा से पहले आइए देखते हैं कि आखिर क्या है तंदूर कांड?
2 जुलाई 1995 
गोल मार्केट, नई दिल्ली
सरकारी फ्लैट नंबर 8/2ए
रात के साढ़े आठ बजे


अचानक इस सरकारी क्वार्टर के फ्लैट नंबर 8/2ए से गोलियां चलने की आवाज आती है. पड़ोसियों को लगा कि शायद किसी ने पटाखे छोड़े हैं. लिहाज़ा कुछ देर बाद हर तरफ खामोशी छा जाती है.

थोड़ा वक्त बीतता है. इसके बाद अचानक फ्लैट का दरवाजा खुलता है. एक साया पॉलीथीन में रखी कोई वजनी चीज घसीटता हुआ फ्लैट से बाहर निकलता है. बाहर एक कार खड़ी थी. साया पॉलीथिन को उठा कर कार की डिकी में रखता है और फिर डिकी बंद कर ड्राइविंग सीट पर बैठते ही कार को तेजी से भगा ले जाता है.

रात करीब साढ़े नौ बजे
आईटीओ पुल

अंधेरा गहराता जा रहा था और सड़क पर धीरे-धीरे ट्रैफिक की भीड़ भी कम होती जा रही थी. कार चलाने वाला आईटीओ पुल पर पहुंचने के बाद तेजी से इधऱ-उधर देखता है. उसे शायद किसी खास मौके की तलाश थी. पर मौका शायद मिल नहीं रहा था। लिहाज़ा पुल के कुछ चक्कर काटने के बाद वो पुल के बीचो-बीच किनारे अपनी कार रोक देता है. कार का इंजिन बंद करता है और नीचे उतरता है.

दरअसल उसका इरादा कार की डिकी में रखी पॉलीथिन को पुल के नीचे यमुना में फेंकने का था. लेकिन पुल पर अब भी ट्रैपिक था. लोग लगातार आ-जा रहे थे. लिहाज़ा उसे मौका नहीं मिलता कि वो पॉलीथिन को यमुना में फेंक सके. उसे डर था कि कहीं किसी ने उसे पॉलीथिन फेंकते देख लिया तो उसकी पोल खोल जाएगी.

लिहाज़ा डर के मारे वो वापस कार में बैठता है और कुछ सोचने लगता है. तभी अचानक उसके दिमाग में बिजली की तरह एक और तरकीब कौंधती है. वो फौरन कार का रुख मोड़ देता है. अब कार वापस क्नॉट प्लेस की तरफ भागती है. क्नॉट प्लेस पहुंचते ही इस बार कार अशोक यात्री निवास के अंदर बगिया रेस्तरां के पास जाकर रुकती है.

रात करीब साढ़े दस बजे
बगिया रेस्तरां
अशोका यात्री निवास
क्नॉट प्लेस

रेस्तरां में उस वक्त भी कुछ लोग बैठे खाना खा रहे थे. कार रेस्तरां में पार्क करने के बाद कार से वही शख्स उतरता है और रेस्तरां के मैनेजर केशव के पास पहुंचता है. दरअसल कार चलाने वाला कोई और नहीं बल्कि दिल्ली यूथ कांग्रेस का प्रेसिडेंट सुशील शर्मा था और ये रेस्तरां तब सुशील शर्मा का ही था. कार से उतरने के बाद घबराया सुशील शर्मा केशव से फौरन रेस्तरां बंद करने को कहता है. इसके बाद ग्राहकों के वहां से निकलते ही रेस्तरां की बत्ती भी बुझा दी जाती है. पर रेस्तरां का तंदूर अब भी जल रहा था.

क्नॉट प्लेस के इस इलाके में तंदूर का धधकना या तंदूर का जलना रोजमर्रा की बात थी. लोग देर रात यहां खाना खाने आते थे. मगर उस रात तंदूर में जो होने जा रहा था वैसा शायद ही उससे पहले दुनिया के किसी तंदूर में हुआ था. तंदूर जली पर ऐसी जली कि हरेक को जला गई. 

रात करीब साढ़े ग्यारह बजे
बगिया रेस्तरां
अशोका यात्री निवास
नई दिल्ली

सुशील शर्मा के कहने पर रेस्तरां पूरी तरह खाली हो चुका था. सुशील शर्मा ने केशव से कह कर रेस्तरां के बाकी कर्मचारियों को भी वहां से भेज दिया. अब अंदर सिर्फ रेस्तरां का मैनेजर केशव और सुशील शर्मा थे. इसके बाद सुशील कार की डिकी से पॉलीथिन बाहर निकालता है. पॉलीथिन में एक लाश थी. एक महिला की लाश.

सुशील लाश के बारे में केशव को झूठी-सच्ची कहानी सुनाता है पर ये नहीं बताता कि लाश किसकी है. इसके बाद केशव के साथ मिल कर वो रेस्तरां के चाकू से लाश के टुकड़े करता है. फिर हर टुकड़े को उसी रेस्तरां के जलते तंदूर में डालता जाता है. दरअसल तंदूर की गहराई और तंदूर का मुंह दोनों छोटा था. पूरी लाश एक साथ तंदूर में नहीं जा सकती थी. इसीलिए दोनों लाश के टुकड़े कर तंदूर में डाल रहे थे.

अब टुकड़ों में बंटी पूरी लाश तंदूर के अंदर थी. पर तंदूर ठीक से जल नहीं रहा था. तब आग की लौ तेज करने के लिए सुशील ने केशव से मक्खन लाने को कहा. मक्खन रेस्तरां में पहले से था. अब दोनों मिल कर तंदूर में मक्खन डालने लगते हैं. तरीका काम कर जाता है. आग की लौ तेज होती जाती है. पर यहीं एक गड़बड़ भी हो जाती है.

दरअसल तंदूर में डाल कर इंसानी लाश भूनने का काम अभी जारी ही था कि मक्खन की वजह से तंदूर से उठती आग की तेज लपटें और धुएं के गुबार पर रेस्तरां के बाहर फुटपाथ पर सो रही सब्जी बेचने वाली एक महिला अनारो की नजर पड़ जाती है. अनारो को लगता कि शायद रेस्तरां में आग लग गई है. लिहाज़ा अनारो चीख कर शोर मचाने लगती है. अनारो की चीख पास में ही गश्त कर रहे दिल्ली पुलिस के सिपाही अब्दुल नजीर गुंजू के कानों तक पड़ती है. गुंजू अनारो के पास आता है और फिर रेस्तरां से उठती आग की लपटों को देख रस्तरां की तरफ दौड़ पड़ता है और इस तरह सामने आती है वहशीपन की वो रौंगटे खड़ी कर देने वाली कहानी जो सालों तक सुनी और सुनाई जाती रहीं.

रौंगटे खड़ी देने वाली इस वारदात के अगले रोज अखबारों के जरिए ये खबर दिल्ली यूथ कांग्रेस के एक नेता मतलूब करीम को मिलती है. तब मतलूब करीम सामने आकर पहली बार ये खुलासा करता है कि तंदूर में जिस महिला को भूना गया उसका नाम नैना साहनी है. सुशील शर्मा की बीवी नैना साहनी. वो मतलूब करीम ही था जिसने पहली बार शक जताया कि नैना साहनी का कत्ल किसी और ने नहीं बल्कि खुद उसके पति सुशील शर्मा ने किया है. हादसे के बाद से ही सुशील शर्मा भी गायब हो चुका था. लिहाज़ा पुलिस का शक यकीन में बदलने लगा. पर सवाल ये था कि आखिर सुशील शर्मा ने अपनी ही बीवी का कत्ल क्यों किया? और कत्ल किया तो क्या. इस वहशीपन तरीके से उसकी लाश को मक्खन डाल-डाल कर तंदूर में क्यों जलाया? ज़ाहिर है इसका जवाब सुशील शर्मा के ही पास था. पर वो तब तक दिल्ली छोड़ चुका था.

जिस नैना से उसने लव मैरिज की थी. वो उसी नैना के टुकड़े कर तंदूर में झोंक चुका था. यूथ कांग्रेस के नेता से तंदूर कांड का मुजरिम बनने की सुशील शर्मा की कहानी जितनी भयानक है, उतनी ही चौंकानेवाली.

जिस तंदूर कांड ने एक ज़माने में पूरे हिंदुस्तान को चौंका दिया था, आख़िरकार उसी तंदूर कांड का मुजरिम फांसी के फंदे तक पहुंच कर भी फांसी से दूर रह गया. मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने सुशील शर्मा की सज़ा फांसी से बदल कर उम्र क़ैद में तब्दील कर दी. आख़िर क्या रही इस फ़ैसले के पीछे की वजह?

देश के सबसे ख़ौफ़नाक और चौंकानेवाले मर्डर केस का ये मुल्ज़िम पिछले 10 सालों से अपने सिर पर मौत की तलवार लिए घूम रहा था. क्योंकि इतने ही दिन पहले 7 नवंबर 2003 को ही लोअर कोर्ट ने उसकी करतूत को रेयरेस्ट ऑफ़ रेयर के दायरे में रखते हुए उसके लिए सज़ा ए मौत का ऐलान किया था.

लेकिन अब 10 साल बाद वक़्त का पहिया ऐसा घूमा कि उसके सिर पर लटक रही मौत की तलवार अचानक से हट गई और देश की सबसे बड़ी अदालत ने तंदूर कांड के इस गुनहगार सुशील शर्मा की फांसी की सज़ा को बदल कर उसे उम्र क़ैद की सज़ा में तब्दील कर दिया.

दरअसल, 18 साल से जेल में बंद सुशील शर्मा ने अपनी फांसी की सज़ा को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में अर्ज़ी दाखिल की थी. जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि नैना साहनी हत्याकांड का गुनहगार सुशील शर्मा कोई पेशेवर मुजरिम नहीं है और ना ही उसका कोई पुराना आपराधिक रिकार्ड है. 18 साल से कैद सुशील शर्मा का चरित्र जेल में भी ठीक रहा है. इसलिए उसकी फांसी की सजा को उम्रकैद में बदला जाता है. लेकिन कुछ नियम और शर्तों के साथ वो अपनी आखिरी सांस तक जेल में ही रहेगा.








Source-aajtak .intoday .in



Salman, Aishwarya's Dholi Taro.. tops Bollywood songs this Navratri



Navratri garba is about a riot of colours, merrymaking and dancing. When Hum Dil De Chuke Sanam released in 1999, the song Dholi taro dhol baaje became a hit dance number during the nine-day festival. Even after 14 years, the song featuring Salman Khan and Aishwarya Rai tops the Navratri songs list to which people still enjoy dancing.

IANS lists some popular foot tapping numbers that have become hot favourite of masses during the nine day festival, which started October 5:

Dholi taro dhol baaje: Energetic, high on beats, the song instantly sets you in motion and it is one of the must song during Navratri celebrations.

Yaad piya ki aane lagi: Singer Falguni Pathak is often referred to as the dandiya queen". With popular tracks like Yaad... and Maine payal hai chhankai, her songs are certainly perfect to dance the night away. But her Yaad piya ki aane lagi is the most loved songs, especially during the festive season.

Dholna: Sung by singer Shubha Mudgal, her powerful voice and the energy of the song sets the festive mood. The track, which featured in Mudgal's album Pyar Ke Geet, was released over a decade back but it still in demand.
Pari hoon main: The single made singer Suneeta Rao rise to fame. It is not the usual fast pace dance song, but the folk tune makes it apt to dance with sticks.

Radha kaise na jale: Composed by music maestro A R Rahman for Lagaan starring Aamir Khan, it has dandiya beats. Without fail, it is played every year during the festival.

Shubhaarambh: The song from Kai Po Che features actress Amrita Puri performing garba. The Gujarati beats and Shruti Pathak's melodious voice surely make others do the same.

Nagada sang dhol: The new number from Ram-leela starring Ranveer Singh and Deepika Padukone has come out recently, but is already in the playlist of many disc jockeys. Sung by Shreya Ghoshal and Osman Mir, the song takes you back to Dholi taro dhol baaje days.





   
Source-movies .ndtv .com

आसाराम की 'विषकन्या' भारती की कहानी.....



आसाराम और नारायण साईं के काले कारनामों की अनगिनत परतें हैं. लेकिन आखिर आसराम की बेटी भारती कैसे प्रवचन करते-करते आसाराम की कथित काली दुनिया में फंस गई.
आसाराम की संगत में चंबल के कितने डाकू सुधरे, इसका तो कोई ब्योरा नहीं है लेकिन हर रोज उन लड़कियों की नई फेहरिस्त जरूर सामने आ रही है जिनका इल्जाम है कि आसाराम की संगत ने उन्हें बर्बाद कर दिया.

भारती आसाराम की भक्ति के साम्राज्य की एक अहम कड़ी भी है. आसाराम पर रेप और यौन शोषण का इल्जाम लगने से पहले लोग भारती को एक कुशल ओजस्वी वक्ता और प्रवचनों में अपने गायन से लोगों को मंत्र मुग्ध करने वाली आध्यात्मिक शख्सियत के रूप में जानते थे.

लेकिन, वक्त बदल चुका है. आसाराम का मायाजाल टूटा तो उनकी बेटी भारती द्वारा खड़ा किया गया भ्रमजाल भी दरकने लगा. आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं पर रेप और यौन शोषण का इल्जाम लगाने वाली उन्हीं के आश्रम की पूर्व अनुयायियों ने भारती की नयी पहचान से दुनिया को रूबरू कराया है.

भारती पर आरोप
क्या है भारती की नई पहचान कुछ लड़कियों ने उजागर की है. पीड़िता लड़कियों ने बताया कि वो लड़कियों को गाड़ी में बैठाकर छोड़ने जाती थी ओर लेकर भी आती थी.
क्या भारती पहेरेदारी भी करती थी? इस सवाल के जवाब में पीड़िता ने कहा भारती को जैसे बोला जाता था वैसा वो करती थीं, रुकने के लिये बोला जाए तो रुकती भी थीं.
लक्ष्मी कि क्या भूमिका थी? इस सवाल के जवाब में पीड़िता ने कहा 'वो लड़िकयों को आश्रम से भेजती थी, बापू उन्हें बोलते थे आज उसे भेजना है, आज उसे भेजना है.'
एक पूर्व साधक अमृत प्रजापति ने आरोप लगाया कि आसाराम भारती को फोन करता था, वो गाड़ी से लड़कियां लाती थी.

यानी भारती और उसकी मां आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं के कथित सेक्स रैकेट में कड़ी का काम करती थीं. दोनों उनके लिए लड़कियों को तैयार करती थीं. मां-बेटी की जोड़ी लड़कियों के मन में ये बैठाने का काम करती थी कि आसाराम और नारायण साईं उनका कल्याण कर रहे हैं.

अमृत प्रजापति ने कहा, 'जब लड़कियां बोलती थीं कि गंदा काम हो गया तो दूसरी लड़कियां और लक्ष्मी समझ जाती थी कि ये तो तेरी काया का कल्याण हो गया.'

फरार है भारती
सूरत की बहनों ने जब खुद भारती पर सनसनीखेज इल्जाम लगाए तो वो कहीं नजर नहीं आ रहीं. बताया जाता है कि वो फरार हैं. बेशक अभी पूरे मामले पर कोर्ट का फैसला आना बाकी है लेकिन उनकी फरारी उनके भक्तों में शक पैदा करती है. आखिर एक सच्चे व्यक्ति के पास आरोपों का सामना करने की हिम्मत तो होनी ही चाहिए.

आसाराम के कारोबार में कैसे फंसी भारती
आखिर भारती आसाराम के भक्ति के कारोबार से कैसे जुड़ गई? भारती क्या करती थी कि उसके इशारों पर लड़कियां आसाराम और नारायण साईं के पास जाने के लिए तैयार हो जाती थीं, जैसा कि कुछ लड़कियां इल्जाम लगा रही हैं.

सत्तर के दशक में आसाराम बापू ने का साम्राज्य आध्यात्म खड़ा किया था. फिर आसाराम की भक्ति के कारोबार को आगे बढ़ाने के लिए उनके बेटे नारायण साईं आ गए. आसाराम के कुनबे के लिए शायद इतना ही काफी नहीं था. जल्द ही आसाराम की बेटी और नारायण साईं की बहन भारती भी कथित आध्यात्म के साम्राज्य से जुड़ गईं.

आसाराम के साधकों के बीच भारती श्रीजी के नाम से जानी जाती हैं. वो जगह-जगह प्रवचन करतीं. आसाराम के भक्तों की माने तो भारती का प्रवचन बेहद सम्मोहित करने वाला होता था.

15 दिसंबर 1975 को जन्मी भारती ने महज 12 साल की उम्र में दीक्षा ली थी. फिर चौदह साल तक ध्यान और योग किया और लगाने लगीं दरबार. बताया जाता है कि भारती एम कॉम तक पढ़ी हैं.

लेकिन भारती का जीवन हमेशा से ऐसा नहीं था. आम महिलाओं की तरह उन्होंने भी अपनी गृहस्थी बसाने की कोशिश की थी. 1997 में भारती की शादी डॉक्टर हेमंत से हुई थी. सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन बताया जाता है कि भारती के परिवार में आसाराम जरूरत से ज्यादा दखल देने लगे थे, लिहाजा भारती और हेमंत के रिश्तों में तनाव आता गया और नतीजा तलाक के रूप में सामने आया. हेमंत इस समय विदेश में बताए जाते हैं.

चूंकि भारती का घर आसाराम की वजह से उजड़ा था लिहाजा वो दोबारा पिता की शरण में आ गईं. पहले उन्हें महिला आश्रमों की कमान सौंपी गई और फिर प्रवचन का जिम्मा.

हालांकि, आसाराम से अलग हो चुके साधक और आसाराम पर इल्जाम लगाने वाले कुछ और कहानियां कहते हैं. इनके मुताबिक भारती का असली रोल सत्संग से लड़कियों का चुनाव करना है. ये लड़कियां फिर आसाराम तक पहुंचाई जाती हैं.

लोगों को भक्ति और आध्यात्मिक मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करने वाली महिला गंदगी के गहरे दल-दल में धंसी हुई थी और अब तक भक्ति के सम्मोहन में किसी को पता भी नहीं चला? ये महज आरोप हैं या हकीकत, इस पर जांच पूरी होने से पहले तो कुछ कहना मुश्किल है, लेकिन इतना जरूर कहा जाता है कि आस्था की एक दीवार गिरी है. भरोसा का मंदिर टूटा है, जिसमें कभी आसाराम और नारायण साईं के साथ भारती भी देवी के रूप में सुसज्जित हुआ करती थी.






Source-aajtak .intoday .in

Wednesday, October 9, 2013

नारायण साईं की आशिकमिजाजी का खुलासा, बाप से भी 10 कदम आगे निकला बेटा!


आसाराम के बेटे नारायण साईं से लेकर, पत्नी लक्ष्मी और बेटी भारती पर भी आरोपों के कठघरे में हैं. सूरत पुलिस की तरफ से लुक आउट नोटिस जारी हुआ है. बाबा जेल में और बेटे की करतूतों का पर्दाफाश हो रहा है.








खुलासा नारायण साईं पर हुआ है. वही नारायण साईं, जिन्हें स्वीटहार्ट भगवान कहलाना अच्छा लगता है. नारायण साईं के नाम लड़कियों के इतने लव लेटर्स मिले हैं, सुनकर और पढ़कर कोई भी दंग रह जाएगा.

सुना था कहीं कि मोहब्बत खुदा है, पढ़ा था कि भगवान और भक्त के बीच प्रेम का एक अटूट बंधन होता है. फिल्म भी बनी थी लव इज गॉड पर किसी भगवान के लिए भक्तों का ऐसा प्रेम, ऐसी इजहारे मोहब्बत, चाहत की रोशनी में डुबो कर लिखे गए भगवान के नाम ऐसे प्रेम पत्र, ना इससे पहले कभी नजरों से गुजरे, ना ही इससे पहले कभी भगवान के नाम लिखे गए ऐसे लेटर के बोल कानों से टकराए थे. नारायण साईं के नाम ढेरों लव लेटरर्स आए हैं और इन लेटरर्स को देखकर आपको इनकी आशिकमिजाजी का अंदाजा हो जाएगा.

इन प्रेम पत्रों में नारायण सांई को कोई प्रेमिका उन्हें स्वीटहार्ट बुलाती है, तो कोई माई हार्ट, कोई शायरी लिखती है, तो कोई गाने के बोल लिख रही है, तो कोई खुलेआम ऐलान करती है कि यू आर माईन-आई आम योर्स. इनकी कई माशूकाओं ने तो लिखा है-आई नीड यू, आई वांट यू, आई लव यू. एक प्रेमिका तो रोज भगवना से फोन पर बात करना चाहती है, यानी अब भगवान शायद दिलों से निकल कर मोबाइल में घुस गए हैं.

नारायण साईं की एक प्रेमिका तो ऐसी है, जिसका लव लेटर पढ़ कर यही लगता है कि वो भगवान के काफी करीब रही है. वो खत में बाकायदा एक तारीख का जिक्र करती है और लिखती है कि एक महीना हो गया मिले हुए और वो भगवान को मिस कर रही है, जबकि एक दूसरे लव लेटर में एक प्रेमिका लिखती है कि प्लीज भगवान-एक और चीज जो मैं चाहती हूं, आप जानते हो. मैं उसके लिए इंतजार करूंगी.

प्रेम पत्र में भगवान की खूबसूरती से लेकर उनकी खुशबू तक का जिक्र है. अब जाहिर है ना प्यार छुपता है ना खुशबू. लिहाजा भगवान की लव स्टोरी के लव लेटर आम हो गए हैं. वो लव लेटर, जिसमें कोई मोहब्बत में जान देने की बात कर रही है, तो कोई मोहब्बत में कुछ खास चीज की फरमाइश कर रही है.


इन प्रेम पत्रों का सच आप जानें उससे पहले जरूरी है कि जरा एक नजर मोहब्बत भरे इन खतों पर डाल लीजिए. आखिर भगवान के नाम लिखा गया लव लेटर है. कुछ तो डिफरेंट होगा. क्यों?

'मेरा आपके प्रति और आपका मेरे प्रति प्रेम बढ़ता जाए, प्राकाष्ठा से भी परे, हमदोनों एक दूजे से कभी अलग ना हों.


आपको मेरी कसम, कभी मुझसे जुदा या नाराज हुए. कसम तोड़ने मैं मर जाऊंगी ध्यान रखना.
आप जिसको पकड़ लो, वो कभी आपको छोड़ नहीं सकता. प्लीज और चीजों में अपनी पकड़ भले ना रखो, पर मुझे पकड़कर रखे. प्लीज भगवान, एक और चीज जो मैं चाहती हूं मैं उसके लिए इंतजार करूंगी.'

14 फरवरी 2005 को लिखा गया एक लेटर

आपके बिना मैं पूर्ण अधूरी हूं, भगवान आज एक महीना हो गया, इस दिनांक को मैं आपको बहुत मिस कर रही हूं. 14 जनवरी को मेरा नया जन्म हुआ है. 14 जनवरी मैं कहां थी और आज कहां हूं सोच-सोच कर मन बहुत खराब हो रहा है. बस मुझे इंतजार है कि वो दिन दोबारा कब आएंगे. मैं कितनी पागल हूं कि अपने भगवान के लिए ऐसा पूछ रही हूं. क्या करें, मुझे तो आपके बिना कुछ भी अच्छा नहीं लगता है. भगवान मेरी जिंदगी तो बस आपसे ही है. मेरी सांसों में आप, मेरी आंखों में आप, मेरे दिल में, मेरी धड़कन में आप, मेरे तो रोम-रोम में बस गए हो, कान्हा आपकी प्रीति में मैं प्रेम दीवानी हूं.

भगवान मुझे ऐसा लगता है कि आप मुझसे दूर होते हो तो मेरे साथ मेरी आत्मा ही नहीं है. जैसे पूर्णिमा का चांद देखकर समुद्र में तरंगे उठने लगती है, ज्वार आ जाता है. आईएम योरर्स, एंड यू आर माइन, नेवर फॉरगेट मी अदरवाइस आई विल डाई. आई कान्ट लिव विदआउट यू, बिकॉज यू आर माई लाइफ, सोल एंड लव, यू नो, आई थिंक, अबाउट यू आल डे, एंड नाइट.






Source-aajtak .intoday

रेप के आरोपी नारायण साईं फरार, पुलिस की 6 टीमें पीछे लगीं




सूरत की दो बहनों के यौन शोषण का केस दर्ज कराने के बाद आसाराम के बेटे नारायण साईं फरार हो गए हैं. अब उन्हें पकड़ने के लिए सूरत पुलिस ने छह टीमें  बनाई हैं, जो जगह-जगह छापेमारी कर रही हैं.
आसाराम के लाडले के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी कर दिया गया है, ताकि वह विदेश न भाग सकें.


आसाराम की पत्नी और बेटी पर भी आरोप
सूरत की दो बहनों ने एफआईआर में जो कुछ लिखवाया है, वह भक्ति के भरोसे को तोड़ने के लिए काफी है. दोनों बहनों का आरोप है कि आसाराम और नारायण साईं ने उनसे बलात्कार और अप्राकृतिक संबंध ही नहीं बनाए बल्कि जान से मारने की धमकी भी दी.

बहनों के आरोप के मुताबिक, करतूत में आसाराम की पत्नी और बेटी भी शामिल थीं. बीवी लक्ष्मी और बेटी भारती के खिलाफ दबाव बनाने के आरोप थे.






Source-aajtak .intoday .in

'रामलीला' में दीपिका और रणवीर का हॉट किसिंग सीन


रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण वे हालांकि अपने रियल लाइफ रोमांस की खबरों पर गोलमोल जवाब दे रहे हों, लेकिन अपनी फिल्‍म 'रामलीला' में हॉट और सिजलिंग केमिस्‍ट्री दिखाने के लिए दीपिका पादुकोण और रणवीर सिंह कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं. इस फिल्‍म का एक नया गाना 'लहू मुंह लग गया' मंगलवार को रिलीज कर दिया गया, जिसमें दोनों रंगों की फुहार के बीच मस्‍ती करते हुए छेड़खानी करते हैं और आखिरकार एक-दूसरे को चूम लेते हैं.
एक सूत्र के मुताबिक, 'यह गाना लगभग 5 मिनट का है, जिसे दो हफ्ते में शूट किया गया. इस गाने के लिए फिल्‍म के क्रू ने कई बार तो एक दिन में 14 घंटों तक काम किया. इस गाने में निर्देशक संजय लीला भंसाली असली गुजराती संस्‍कृति को दर्शना चाहते थे. गाना एक स्‍लो डांस नंबर है.'

इस गाने में एक जगह दीपिका अपने हीरो रणवीर सिंह के ऊपर रंग डालती हैं और फिर थोड़ी सी शरारत के बाद उन्‍हें किस करती हैं. इस सीन को देखने पर फिल्‍म 'हम दिल दे चुके सनम' के गाने आंखों की गुस्‍ताखियां में ऐश्वर्या राय और सलमान खान की प्‍यार भरी अठखेलियों की यादें एक बार फिर ताजा हो जाती हैं. हालांकि इस गाने का मुख्‍य आकर्षण दीपिका और रणवीर का किसिंग सीन है.

भंसाली ने अपनी पिछली फिल्‍म 'गुजारिश' की तरह इस फिल्‍म के गाने भी खुद ही कम्‍पोज किए हैं. इस गाने के हर एक सीन में भंसाली की छाप साफ तौर पर दिखाई देती है.






Source-aajtak. intoday

Tuesday, October 8, 2013

‘रामलीला’ में रनबीर-दीपिका खेलेंगे होली


 रनबीर सिंह-दीपिका पादुकोण स्टारर ‘रामलीला’ को मोस्ट अवेडेट फिल्मों में एक बताया जा रहा है। पहली बार रनबीर और दीपिका की जोड़ी बनी है। दोनों के अफेयर की खबर ने फिल्म के लिए और उत्सुकता बढ़ा दी है। ‘रामलीला’ का नया सॉन्ग ‘लहु मुंह लग गया’ को रिलीज कर दिया गया है।
फिल्म ‘रामलीला’ के नए सॉन्ग 'लहु मुंह लग गया' में रनबीर सिंह दीपिका पादुकोण के साथ रोमांस करते हुए नजर आएंगे। सॉन्ग 'लहु मुंह लग गया' में दीपिका रनबीर पर रंग उड़ाती नजर आएंगी। सॉन्ग 'लहु मुंह लग गया' को गाया है शैल हडा ने और म्यूजिक दिया है मोंटी शर्मा ने।
सिद्धार्थ, गरिमा रचित इस सॉन्ग का संगीत संजय लीला भंसाली ने तैयार किया है। फिल्म 'रामलीला' शेक्सपियर के मशहूर नाटक 'रोमियो एंड जूलियट' पर आधारित है। 'रामलीला' 15 नवंबर को रिलीज होगी।










Source-khabar .ibnlive .in

आसाराम की ट्रांजिट रिमांड लेने की तैयारी में अहमदाबाद पुलिस


आसाराम की मुसीबत अब और बढ़ने वाली है. अब अहमदाबाद पुलिस आसाराम की ट्रांजिट रिमांड लेने की तैयारी में है. दरअसल, सूरत की एक लड़की ने आसाराम पर अहमदाबाद के करीब मोटेरा आश्रम में बलात्कार करने का इल्जाम लगाया था. इसकी जीरो एफआईआर सूरत में दर्ज हुई थी.
अहमदाबाद पुलिस ने गांधीनगर कोर्ट से ट्रांसफर वारंट हासिल कर लिया है. अगर अहमदाबाद पुलिस ने ट्रांजिट रिमांड हासिल कर लिया, तो जोधपुर जेल में बंद आसाराम अहमदाबाद पुलिस की कस्टडी में आ जाएंगे.


उधर दो बहनों के यौन उत्पीड़न के आरोपों के बाद सूरत पुलिस ने कथावाचक आसाराम के पुत्र नारायण साई का पता लगाने के लिए छह टीमें गठित की हैं. दो बहनों द्वारा यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाये जाने के बाद साईं का पता नहीं चल रहा है.

बहरहाल, अहमदाबाद में चांदखेड़ा पुलिस थाने में आसाराम के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया है, जिसे सूरत से ट्रांसफर किया गया है. इसमें बड़ी बहन ने आरोप लगाया कि गुजरात के मोटेरा में आसाराम ने उसका बार-बार यौन उत्पीड़न किया.

सूरत के पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने अधिक ब्योरा दिये बिना कहा, ‘हमने साईं की तलाश करने के लिए छह टीमों का गठन किया है.’ दोनों बहनों की ओर से पिता-पुत्र के खिलाफ यौन उत्पीड़न की शिकायत के बाद साई के खिलाफ ‘लुकआउट नोटिस’ जारी किया गया है’. पुलिस टीम का गठन अहमदाबाद के पुलिस आयुक्त शिवानंद झा ने किया है, ताकि आसाराम के खिलाफ यौन उत्पीड़न मामले की जांच की जा सके. यह टीम महत्वपूर्ण सुराग जुटाने के लिए सूरत पहुंच गई है.






Source-aajtak intoday 


Tanisha Singh Body Paint For Navratri Fest










Source-bollywoodtimes 

Sunday, October 6, 2013

Navratri Festival Photos








Navratri Festival 2013 - Festival of Nine Nights, Festival of Dandiya and Garba Rass, Dance


The festival of Navratri (nav = nine and ratri = nights) lasts for 9 days with three days each devoted to worship of Maa Durga, the Goddess of Valor, Ma Lakshmi, the Goddess of Wealth and Maa Saraswati, the Goddess of Knowledge. During the nine days of Navratri, feasting and fasting take precedence over all normal daily activities amongst the Hindus. Evenings give rise to the religious dances in order to worhip Goddess Durga Maa.


The beginning of spring and the beginning of autumn are two very important junctions of climatic and solar influence. These two periods are taken as sacred opportunities for the worship of the Divine Mother. The dates of the festival are determined according to the lunar calendar. Being the oldest religion in the world, Hinduism has numerous belief systems.






In Hinduism the adherents believe in one omnipresent Deity but may worship Her/Him in any of the numerous manifestations that are prevalent all over India. Navaratri represents celebration of Goddess Durga, the manifestation of Deity in form of Shakti [Energy or Power]. Dasahara, meaning ‘ten days’, becomes dussehra in popular parlance. The Navaratri festival or ‘nine day festival’ becomes ‘ten day festival’ with the addition of the last day, Vijayadashami which is its culmination. On all these ten days, the various forms of Mother Mahisasura-mardini (Durga) are worshipped with fervour and devotion.

The 9 nights festival of Navratri begins on the first day of Ashwina of the bright fortnight. Seeds are sown, sprouting is watched, the planets are consecrated, and on the 8th and 9th days, Goddess Durga, Vijayashtami and Mahanavami are worshipped. The Devi Mahatmya and other texts invoking the Goddess who vanquished demons are cited.

1st - 3rd day of Navratri 
On the first day of the Navaratras, a small bed of mud is prepared in the puja room and barley seeds are sown on it. These initial days are dedicated to Durga Maa, the Goddess of power and energy.
  4th - 6th day of Navratri 
During these days, Lakshmi Maa, the Goddess of peace and prosperity is worshipped.
7th - 8th day of Navratri 
These final days belong to Saraswati Maa who is worshipped to acquire the spiritual knowledge. This in turn will free us from all earthly bondage. But on the 8th day of this colourful festival, yagna (holy fire) is performed. 





Source-worldmostamazingthings .com

Friday, October 4, 2013

Comedy Nights With Kapil back on track!



Standup comedian-producer Kapil Sharma resumes shooting for his popular show after fire gutted the sets of the show
Kapil Sharma along with his entire onscreen crazy family shot the first episode of his popular show Comedy Nights With Kapil post the fire accident which took place last week. The incident brought the set down to ashes.

The episode which will feature Akshay Kumar, Aditi Rao Hydari and Ronit Roy as guests was shot yesterday in Lonavala on the sets of Bigg Boss 7. This is not the first time that Akshay has appeared on Kapil’s show. Earlier, Akshay was on Comedy Nights with Kapil when he was promoting his film Once Upon Ay Time In Mumbai Dobaara.

Kapil also shot another episode which will feature Kangna Ranaut as a guest. Kangna went to the sets for promoting her upcoming film Rajjo.

“Today shooting wid Akshay Kumar n kangana ranaut on big boss set in lonavla..I knw u all r missing comedy nights..see u on Sunday at 10 pm”, tweeted Kapil.





Source-bollywoodlife .com

मल्लिका के लिए दूल्हा ढूंढेंगे रणबीर




 रणबीर कपूर, इंडियन फिल्म इंडस्ट्री की मोस्ट एलिजिबल बैचलरेट- मल्लिका शेरावत, के लिए दूल्हा ढूढ़ेंगे। रणबीर कपूर ने एक बार कहा था कि 'मुझे अच्छा लगता है, जब मुझे 'मोस्ट एलिजिबल बैचलर' कहा जाता है।' यह बैचलर अब बॉलिवुड की हसीना मल्लिका शेरावत को उनके दिल के राजकुमार से मिलाने में मदद करने जा रहे हैं। 

सूत्रों ने बताया कि रणबीर कपूर मल्लिका के शो 'द बैचलरेट इंडिया- मेरे ख्यालों की मल्लिका' में बतौर गेस्ट आ रहे हैं। 

खबर है कि रणबीर को मल्लिका के शो में बतौर स्पेशल गेस्ट न्यौता दिया गया है। जैसा की हम जानते हैं कि रणबीर और मल्लिका, दोनों आज के 'मोस्ट एलिजिबल बैचलर' की सूची में शामिल हैं। ऐसे में दोनों को एक ही मंच पर देखना काफी मजेदार होने वाला है। रणबीर शो में आकर मल्लिका की उनका जीवनसाथी चुनने में मदद करेंगे। हालांकि अब तक रणबीर की ओर से इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि वह शो के मेहमान बनेंगे या नहीं। 

गौरतलब है कि 7 अक्टूबर से आने वाले शो 'द बैचलरेट इंडिया...' में हजारों लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया था, लेकिन उनमें से सिर्फ 30 प्रतियोगियों को चुना गया है, जो मल्लिका का दिल जीतने की कवायद करेंगे।




Source-navbharattimes .indiatimes

मोदी बनने की तैयारी में परेश रावल....


परेश रावल के प्रॉडक्शन हाउस की पहली फिल्म 'ओह माय गॉड' को बॉक्स ऑफिस पर जबर्दस्त सफलता मिली थी। अब वह अपने बैनर की दूसरी फिल्म लाने की तैयारी कर रहे हैं। यह फिल्म बीजेपी के प्राइम मिनिस्टर कैंडिडेट नरेन्द्र मोदी पर होगी और खास बात यह है कि परेश खुद इस फिल्म में मोदी का रोल करेंगे। परेश हमेशा से एक्सपेरिमेंटल रोल्स के लिए जाने जाते रहे हैं। ऐसे में उनका इस रोल के लिए आगे आना कोई हैरानी की बात नहीं। हां, इस बात पर जरूर हैरानी होती है कि वह इस फिल्म पर पैसा लगा रहे हैं।

इस बारे में उनके एक करीबी ने बताया कि परेश और मोदी के क्लोज रिलेशन हैं। यह दोस्ती बहुत पुरानी है और परेशा मोदी की पर्सनैलिटी से खासे प्रभावित भी हैं। वैसे, इस बात को परेश खुद भी स्वीकारते हैं और उन्होंने यह भी मानते हैं कि मोदी पर फिल्म बनाते समय इस रोल के लिए खुद को लेने के अलावा किसी और ऐक्टर का नाम उनके दिमाग में आया ही नहीं।

बता दें कि परेश ने पिछले चुनाव में मोदी के लिए प्रचार भी किया था। परेश ने बताया कि मोदी बहुत खूबसूरत कविताएं लिखते हैं और जब भी थिएटर को लेकर उनके सामने कोई दिक्कत होती है, वह तुरंत मोदी को अप्रोच करते हैं।

लेकिन क्या मोदी ने उनको खुद पर फिल्म बनाने की इजाजत दे दी है? इस बारे में परेश ने बताया, 'बिल्कुल, और इससे उनको कोई प्रॉब्लम भी नहीं है। जब मैंने उनको इस बारे में बताया, तो उनका साफ जवाब था कि फिल्म बनानी है, तो बना लो।' परेश ने आगे कहा, '...लेकिन लोग यह न सोचें कि मोदी का इस फिल्म में कोई हस्तक्षेप होगा। मैं उनको जानता हूं और वह ऐसा कतई नहीं करेंगे।'

वैसे, मोदी पर फिल्म बनाने का आइडिया परेश को एक गुजराती एनआरआई, मितेश कुमार पटेल ने दिया है और वह परेश के साथ मिलकर इस फिल्म को बनाएंगे। हालांकि इस फिल्म के डायरेक्टर का नाम अभी तय नहीं हुआ है, लेकिन बाकी काम शुरू हो चुका है। परेश का लुक टेस्ट दिसंबर में होगा और मोदी पर बनने वाली इस फिल्म के फरवरी 2014 में फ्लोर पर जाने की उम्मीद है। साथ ही, इसे देश के कई शहरों में भी शूट करने की प्लैनिंग है।






Source-navbharattimes .indiatimes


कैदियों को राजनीति पढ़ाएंगे लालू, रोज मिलेंगे 25 रुपये


चारा घोटाले में पांच साल की सजा पाए लालू प्रसाद यादव को जेल में पढ़ाने का काम मिला है। लालू जेल में कैदियों को राजनीति शास्त्र पढाएंगे। लालू की उम्र को देखते हुए उन्हें कम मेहनत वाला काम सौंपा गया है। कैदियों को पढ़ाने के बदले उन्हें हर रोज 25 रुपए दिए जाएंगे।
जेल मैनुअल के हिसाब से हर कैदी को जेल में काम करना पड़ता है और इसकी एवज में उन्हें पैसा भी मिलता है। अभिनेता संजय दत्त को भी जेल में खाना बनाने का काम मिला है जिसके लिए उन्हें रोजाना 25 रुपये मिलते हैं। बहरहाल, लालू राजनीति के माहिर खिलाड़ी हैं। जेल में कैदियों को वो राजनीति के बेहतरीन गुर सिखा सकते हैं।
चारा घोटाले से जुड़े एक मामले में आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को बुधवार को पांच साल कैद और 25 लाख जुर्माने की सजा सुनाई गई थी। रांची की विशेष सीबीआई अदालत ने उनके साथ नरमी बरतने की तमाम अपीलों को ठुकरा दिया। इसी के साथ अदालत ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जगन्नाथ मिश्र को भी चार साल कैद की सजा सुनाई।
सजा सुनाए जाने से पहले अदालत में दोनों पक्षों ने अपनी-अपनी दलीलें दीं। सीबीआई ने लालू के लिए सात साल की अधिकतम सजा की मांग की। सीबीआई ने कहा कि ये सामान्य मामला नहीं है। लालू यादव तमाम प्रतिष्ठित पदों पर रहे हैं। ऐसे व्यक्ति से उम्मीद नहीं की जाती कि वो ऐसे मामले में शामिल होगा। इस केस में असामान्य देरी हुई। जनता का व्यवस्था पर भरोसा बढ़े, इसके लिए सख्त सजा जरूरी है।
लालू के वकील ने इसका सख्त विरोध किया। वकील ने दलील दी कि लालू यादव की उम्र 67 साल है और वे कई गंभीर बीमारियों की गिरफ्त में हैं। रेल मंत्री के रूप में उन्होंने शानदार काम किया और रेलवे को फायदे में लाए। जांच में उन्होंने सहयोग किया। 41 एफआईआर उनके आदेश पर ही दर्ज हुई थीं। लालू यादव ने जांच के दौरान सभी जरूरी दस्तावेज उपलब्ध कराए इसलिए उनके साथ नरमी बरती जानी चाहिए।








Source-khabar ibnlive .in

Thursday, October 3, 2013

Mr & Mrs Dhoni. Like it??







रामलीला में दिखेगा दीपिका का गरबा डांस


दीपिका पादुकोण संजय लीला भंसाली की फिल्म 'रामलीला' के एक सॉन्ग में लाल घाघरा चोली में गुजराती ठुमके लगाते हुए गरबा करती नजर आएंगी। सॉन्ग में दीपिका के साथ रणवीर सिंह भी नजर आएंगे। रामलीला का सॉन्ग ‘नगाड़ा संग ढोल बाजे’ फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’ का सॉन्ग ‘ढोल बाजे’ जैसे ही होगा। ‘ढोल बाजे’ में ऐश्वर्या और सलमान खान ने डांस किया था।
यह पहला मौका होगा जब दीपिका गरबा करती नजर आएंगी। इस सॉन्ग में रणवीर सिंह भी हैं। ‘नगाड़ा संग ढोल बाजे’ एक नवरात्रि सॉन्ग है। बताया जाता है कि ‘नगाड़ा संग ढोल बाजे’ सॉन्ग फिल्म की यूएसपी है। सिद्धार्थ, गरिमा रचित इस सॉन्ग का संगीत संजय लीला भंसाली ने तैयार किया है। फिल्म 'रामलीला' शेक्सपियर के मशहूर नाटक 'रोमियो एंड जूलियट' पर आधारित है। 'रामलीला' 15 नवंबर को रिलीज होगी।









Source-khabar .ibnlive. in

Wednesday, October 2, 2013

TV actress Sravani caught in sex scanda







Telugu serials popular actress ‘Sravani’ caught red handed in Hitech sex rocket busted in Madhapur today. Special operation task force raided in Fortune Towers, 203 apartment number at Madhapur area and caught the Sravani and Jayaraj Steel Co – Owner Sanjan Kumar Goenka.

Task Force team explains that Goenka has paid 2 lakh rupees to her according to deal. However, task force is seeking for pimp Madan who is absconding.



thehyderabadtimes .com

Tuesday, October 1, 2013

Sunny Leone and Karisma Tanna In Tina and Lolo

Sunny Leone and Karisma Tanna In Tina and Lolo




'दबंग' नहीं भरते फाइन



अभी तक इंडस्ट्री में सिर्फ विद्या बालन और अजय देवगन जैसे फिल्मी सितारे ही अपनी गाड़ी में टिंटेड ग्लास यूज करने के लिए जाने जाते हैं लेकिन अब इस लिस्ट में सलमान खान भी शामिल हो गए हैं। फर्क बस इतना है कि जहां विद्या और अजय को अपने इस शौक के लिए फाइन पे करना पड़ा वहीं सलमान को पुलिसवालों ने स्माइल देकर छोड़ दिया।

खबर है कि हाल ही में सलमान साउथ मुंबई में अपनी गाड़ी में जा रहे थे। सूत्रों ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस ने सल्लू की गाड़ी को वर्ली के आसपास उसमें लगे टिंटेड ग्लासेज की वजह से रोक लिया। जाहिर है, पुलिस वाले गाड़ी के शीशों पर चढ़ी फिल्म की वजह से गाड़ी के मालिक पर जुर्माना लगाने के पूरे मूड में थे, लेकिन जब उन्होंने देखा कि अंदर सलमान खान बैठे हैं, तो चीजें अचानक बदल गईं। पुलिस वालों ने सलमान को स्माइल दी और छोड़ दिया। सूत्रों का तो यह भी कहना है कि पुलिस वालों ने सलमान के साथ मोबाइल कैमरे से फोटोज भी खिंचवाईं।

पिछले दिनों जब विद्या की गाड़ी को ट्रैफिक पुलिस ने टिंटेड ग्लास की वजह से रोका, तो उन्होंने मुस्कराते हुए फाइन पे कर दिया और साथ ही यह हवाला भी दिया कि उनसे सनलाइट बर्दाश्तहीं न होती। वहीं, अजय को शायद अपनी गलती का अहसास हो गया और उन्होंने तुरंत अपनी गाड़ी के शीशों पर से फिल्म उतरवा दी। इसमें किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए, आखिर सल्लू की स्टार वैल्यू अजय देवगन और विद्या बालन से तो ज्यादा ही है लेकिन क्या स्टार वैल्यू कोई भी नियम तोड़ने की स्पेशल परमिशन भी दे देती है। सही है (बिग) बॉस!






Source-navbharattimes .indiatimes 

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Receive All Free Updates Via Facebook.